राजस्थान के उपमुख्यमंत्रीयों की सूची, राजस्थान के सभी उपमुख्यमंत्रियों की जानकारी

राजस्थान के उपमुख्यमंत्रीयों की सूची, राजस्थान के सभी उपमुख्यमंत्रियों की जानकारी — अब तक राजस्थान में कुल 5 मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जिनमें एक तो मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं. जबकि दूसरे उपमुख्यमंत्री अनेक सारे पद संभाल चुके हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको राजस्थान के सभी मुख्यमंत्रियों की सूची बताने वाले हैं जिसमें उनकी राजनीतिक पार्टी एवं उनके कार्यकाल के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। तो आइए नीचे दी गई सारणी में आप पूरी जानकारी के साथ विस्तार से राजस्थान के उपमुख्यमंत्री की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

राजस्थान के उपमुख्यमंत्रीयों की सूची-

क्र. स उपमुख्यमंत्री नाम  कार्यकाल  पार्टी 
1. टीका राम पालीवाल 1 नवम्बर 1952 – 13 नवम्बर 1954 कांग्रेस
2. हरिशंकर भाभड़ा    4 दिसम्बर 1993 – 30 नवम्बर 1998 भारतीय जनता पार्टी
3. बनवारीलाल बैरवा    19 मई 2002 – 4 दिसम्बर 2003 कांग्रेस
4. कमला बेनीवाल    12 जनवरी 2003 – 4 दिसम्बर 2003 कांग्रेस
5. सचिन पायलट    24 दिसम्बर 2018 – 14 जुलाई 2020 कांग्रेस

 

राजस्थान के मुख्यमंत्रियों की सूची और कार्यकाल– List Of Chief Ministers Of Rajasthan in Hindi 

अब तक राजस्थान में कुल 5 उप मुख्यमंत्री रह चुके हैं। राजस्थान के पहले उप मुख्यमंत्री टीकाराम पालीवाल जोकि राजस्थान के प्रथम निर्वाचित मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। तो आइए राजस्थान के 5 मुख्यमंत्रियों के बारे में जीवन परिचय जान लेते हैं।

 

टीका राम पालीवाल जन्म परिचय –

नाम  टीकाराम पालीवाल
जन्म  24 अप्रैल 1909
जन्म स्थल महवा, मंडावर
माता का नाम सुंदरीदेवी 
पिता का नाम हुकमचंद पालीवाल
पद मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री
पार्टी  कांग्रेस, जनता दल
मुत्यु  8 फ़रवरी 1995
कार्यकाल  1952–1952
गुरु  प्रोफेसर रघुनंदन शरण

 

टीकाराम पालीवाल राजस्थान के प्रथम निर्वाचित मुख्यमंत्री थे, इसके अलावा उन्होंने उपमुख्यमंत्री पद को भी संभाला था। वह स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े हुए थे। सविनय अवज्ञा आंदोलन से जुड़कर उन्होंने नमक बनाकर अपनी गिरफ्तारी भी दी थी। उन्होंने अनेक बार धरना प्रदर्शन और रैलियां की थी। टीकाराम पालीवाल का राजस्थान ही नहीं देश की आजादी में महत्वपूर्ण योगदान है। टीका राम पालीवाल पहली बार कांग्रेस के प्रतिनिधि जय नारायण व्यास को हराकर राजस्थान के पहले निर्वाचित मुख्यमंत्री बने थें। टीकाराम पालीवाल राजस्थान के प्रथम उपमुख्यमंत्री थे।

हरिशंकर भाभड़ा का जन्म परिचय  –

नाम  हरि शंकर भाभरा
जन्म  6 अगस्त 1928
जन्म स्थान  डिडवाना, नागौर
माता का नाम मोहिनी देवी
पिता का नाम मन्नालाल भाभरा
राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी
पद राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष, 

मुख्यमंत्री

कार्यकाल 1990 – 1998
विवाह  3 जुलाई 1941
पत्नी यशोदा देवी
डिग्री स्नातक एवं कानून डिग्री
बच्चे दो बेटे, तीन बेटियां

 

हरिशंकर भाभड़ा राजस्थान विधानसभा के दो बार अध्यक्ष रह चुके हैं। इसके अलावा वे एक बार राजस्थान सरकार में उप मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। इनके दो बेटे और तीन बेटियां थी। इन्होंने यशोदा देवी से शादी की थी। इनका जन्म नागौर जिले के डीडवाना क्षेत्र में हुआ था। इनके बारे में जन्म परिचय ऊपर सारणी में बता दिया गया है। हरिशंकर भाभड़ा राजस्थान के दूसरे उपमुख्यमंत्री थें।

बनवारीलाल बैरवा का जन्म परिचय –

नाम बनवारीलाल बैरवा
जन्म 19 जनवरी 1933
जन्म स्थान धन्ना तलाई, टोंक 
शिक्षा M.A., LL.B
माता का नाम
पिता का नाम दौलत राम
पद उपमुख्यमंत्री, सांसद, राज्यमंत्री
कार्यकाल 1980 – 2003
मृत्यु 22 जुलाई 2009
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस

 

बनवारी लाल बेरवा राजस्थान के तीसरे उपमुख्यमंत्री रह चुके हैं। इसके अलावा दो बार सांसद रह चुके हैं। बनवारी लाल बेरवा समाज कल्याण मंत्री, यातायात मंत्री, जेल मंत्री एवं मुद्रण राज्य मंत्री भी रह चुके है।  वर्ष 2009 में उनका निधन हो गया।‌वह समाज सेवा के लिए जाने जाते थे। शिक्षा के क्षेत्र में उन्हें अत्यंत रुचि थी। स्थानीय लोगों ने बाऊजी कहकर पुकारते हैं।

कमला बेनीवाल का जन्म परिचय –

नाम  कमला बेनीवाल
जन्म  12 जनवरी 1927
जन्म स्थान गोरीर गांव, खेतड़ी, झुंझुनू
शिक्षा ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन
पद ग्रह,  शिक्षा, कृषि, मंत्री, राज्यपाल, उपमुख्यमंत्री
कार्यकाल 1954 से वर्तमान 
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
पति का नाम रामचंद्र बेनीवाल
आयु 95 वर्ष 

 

कमला बेनीवाल का जन्म राजस्थान के झुंझुनू जिले के खेतड़ी क्षेत्र के गोरीर गांव में हुआ था। कमला बेनीवाल जाट परिवार से संबंध रखते हैं। इनके पति का नाम रामचंद्र बेनीवाल है। कमला बेनीवाल की आयु 95 वर्ष है। वर्तमान समय में यह राज्यपाल का कार्यभार देख रही है। इन्होंने राजस्थान की राजनीति में गृह मंत्रालय, शिक्षा मंत्रालय, कृषि मंत्रालय और राजस्थान के उपमुख्यमंत्री का पद संभाला है। यह राजस्थान की चौथी उप मुख्यमंत्री रह चुकी है।

सचिन पायलट का जन्म परिचय –

नाम सचिन पायलट
जन्म 7 सितम्बर 1977
जन्म स्थान सहारनपुर, उत्तर प्रदेश
माता का नाम रामा पायलट 
पिता का नाम राजेश पायलेट
शिक्षा स्नातक, एम.बी.ए
शादी 15 जनवरी 2004
पत्नी सारा अब्दुल्ला
बच्चें  आरन पायलट, विहान पायलट
राजनीतिक पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
पद पूर्व केंद्रीय मंत्री, उपमुख्यमंत्री, सांसद, विधायक

 

सचिन पायलट भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से जुड़े हुए एक भारतीय राजनेता है। उनका जन्म उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में हुआ था। वर्तमान समय में राजस्थान की राजनीति में सक्रिय है। सचिन पायलट राजस्थान के पांचवें उप मुख्यमंत्री रह चुके हैं। इसके अलावा भी पूर्व सांसद और मनमोहन सिंह के कार्यकाल में केंद्र सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। सचिन पायलट ने कश्मीर के अलगाववादी नेता फारूक अब्दुल्ला की बेटी से शादी की है, उसके दो बेटे भी हैं।

राजस्थान के उप मुख्यमंत्री की सैलरी कितनी है?

मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री की सैलरी लगभग बराबर ही होती है मुख्यमंत्री की सैलरी ₹80000 से लेकर ₹300000 तक होती है, जबकि उप मुख्यमंत्री की सैलरी ₹75000 से लेकर ₹200000 तक होती है।

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री का क्या कार्य है?

उप मुख्यमंत्री का कार्य मुख्यमंत्री की गैरमौजूदगी में होता है। जब मुख्यमंत्री गैर मौजूद होता है, कुछ हादसा हो जाता है, यहां अचानक से मृत्यु हो जाती है, तो उस स्थिति में उप मुख्यमंत्री ही राज्य की कमान अपने हाथों में ले लेता है और अगला मुख्यमंत्री बनाए जाने या चुनाव होने तक मुख्यमंत्री की तरह शासन करता है।

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री की शक्तियां क्या है?

उपमुख्यमंत्री मुख्यमंत्री के दिशा निर्देश अनुसार कार्य करता है। मुख्यमंत्री की तरह फैसले ले सकता है। विधानसभा में विधेयक पास करवा सकता है। कानून व्यवस्था और प्रशासनिक व्यवस्था को सुनिश्चित कर सकता है। प्रशासनिक इकाइयों के देखभाल कर सकता है। उपमुख्यमंत्री बड़े-बड़े पदाधिकारियों का ट्रांसफर कर सकता है और जांच कमेटी भी बैठा सकता है। इत्यादि अनेक तरह की शक्तियां मुख्यमंत्री के पास होती है।

FAQ:- राजस्थान उप मुख्यमंत्री से संबंधित प्रश्न एवं उत्तर –

उपमुख्यमंत्री क्या होता है?

किसी राज्य का मुख्यमंत्री के बाद दूसरा सबसे बड़ा पद उपमुख्यमंत्री का होता है।

उप मुख्यमंत्री कौन बन सकता है?

वह राजनेता जो राज्य में मुख्यमंत्री के बाद दूसरे स्थान पर आता है या उसका प्रभुत्व मुख्यमंत्री के बराबर होता है।‌उसकी लोकप्रियता राज्य में काफी ज्यादा प्रचलित होती है, उसे मुख्यमंत्री बनाया जाता है।

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री का क्या कार्य है?

उप मुख्यमंत्री का कार्य राज्य की कानूनी एवं प्रशासनिक व्यवस्था बनाए रखना और शांति बनाए रखने का कार्य होता है। इसके अलावा किसी विभाग पर जांच बैठाना एवं मुख्यमंत्री के दिशा निर्देश अनुसार कार्य करना होता है।

राज्य का उपमुख्यमंत्री कौन होता है?

उप मुख्यमंत्री राज्य का हुआ व्यक्ति होता है, जिसके पास मुख्यमंत्री के बाद सबसे ज्यादा शक्तियां होती हैं।‌मुख्यमंत्री की गैर कोई मौजूदगी में उपमुख्यमंत्री ही मुख्यमंत्री का कार्य करता है।

Conclusion 

राजस्थान के अब तक के सभी उप मुख्यमंत्रियों की सूची आज के इस आर्टिकल में हमने आपको पूरी जानकारी के साथ विचार दे बता दिया है। अब तक राजस्थान के उप मुख्यमंत्री रह चुके लोगों के जीवन परिचय भी इस आर्टिकल में बता दिए गए हैं। हमें पूरी उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए जरूर ही उपयोगी साबित हुई होगी। यदि आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं। हपम पूरी कोशिश करेंगे कि आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न का जल्द उत्तर देने की पूरी कोशिश कर सकें।