राजस्थान की जनसंख्या कितनी है? Rajasthan Ki Janshankiya

राजस्थान की जनसंख्या कितनी है? – क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान भारत का पहला और सबसे बड़ा राज्य है। परंतु जनसंख्या की दृष्टि से राजस्थान भारत का आठवां राज्य है। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार राजस्थान जनसंख्या की दृष्टि से भारत में आठवें स्थान पर आता है। राजस्थान का भूभाग अत्यंत बड़ा है लेकिन आज के समय में राजस्थान में काफी तेजी से जनसंख्या बढ़ रही है। तो आइए आज के इस आर्टिकल में हम आपको राजस्थान की जनसंख्या के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से प्रदान करते हैं।

Table of Contents

राजस्थान की जनसंख्या कितनी है?

वर्ष 2022 में राजस्थान की कुल जनसंख्या 79,502,477 है। यह एक अनुमानित आंकड़ा है। यह गैर सरकारी सर्वे के आधार पर जानकारी प्राप्त की गई है। वर्ष 2022 में राजस्थान में पुरुषों की कुल जनसंख्या 41,235,725 है। जबकि राजस्थान में वर्ष 2022 में महिलाओं की कुल जनसंख्या 38,266,753 है। पिछले 7 दशकों में राजस्थान की जनसंख्या काफी तेजी से बढ़ी है। राजस्थान की जनसंख्या 430% बढ़ रही है। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार राजस्थान की कुल जनसंख्या 6,85,48,437 थी।

Also Read – राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है? Rajasthan Ka Kshetrafa Kitna Hai?

राजस्थान में बच्चों की कुल जनसंख्या 10,649,504 हैं। राजस्थान में लड़कों की कुल जनसंख्या 5,639,176 है। राजस्थान में लड़कियों की कुल जनसंख्या 5,010,328 हैं। राजस्थान में सबसे अधिक जनसंख्या हिंदू धर्म की है। राजस्थान में हिंदू धर्म की कुल जनसंख्या 70,350,108 है। राजस्थान में मुसलमानों की कुल जनसंख्या 7,208,594 हैं। राजस्थान का सबसे अधिक जनसंख्या वाला जिला जयपुर है। जयपुर की कुल जनसंख्या 6,626,178 है। राजस्थान का सबसे कम जनसंख्या वाला जिला जैसलमेर है। जैसलमेर की कुल जनसंख्या 669,919 है।

Rajasthan ki jansankhya in Hindi –

राजस्थान की जनसंख्या 8,01,29,740
राजस्थान में बच्चों की जनसंख्या 10,649,504
राजस्थान में पुरुषों की जनसंख्या 35,554,169
राजस्थान में महिलाओं की जनसंख्या 32,994,268
राजस्थान में लड़कियों की जनसंख्या 5,010,328
राजस्थान में लड़कों की जनसंख्या 5,639,176
राजस्थान की साक्षरता दर 66.11%
राजस्थान पुरुषों की साक्षरता दर  79.19%
राजस्थान महिलाओं की साक्षरता दर 52.13%
राजस्थान के कुल साक्षर 38,275,282
राजस्थान के पुरुष साक्षर 23,688,412
राजस्थान की महिला साक्षर 14,586,870
राजस्थान का लिंगानुपात 928
राजस्थान में बच्चों का लिंगानुपात 888

राजस्थान की साक्षरता दर कितनी है?

Rajasthan राजस्थान की साक्षरता दर 66.11% है। वर्तमान समय में राजस्थान में शहरी साक्षरता दर 79.7% है। जबकि वर्ष 2022 में Rajasthan की ग्रामीण साक्षरता दर 61.4% है। आज के समय में राजस्थान की पुरुष साक्षरता दर 79.19% है एवं वर्ष 2022 में राजस्थान की महिला साक्षरता दर 52.13% है। राजस्थान में कुल साक्षर लोगों की संख्या 38,275,282 है। राजस्थान में पुरुष साक्षरत की संख्या 23,688,412 एवं महिला का साक्षर की संख्या 14,586,870 है।

Rajasthan का सबसे अधिक साक्षरता वाला जिला कोटा है। कोटा की साक्षरता दर 76.56% है। राजस्थान का सबसे कम साक्षरता वाला जिला जालौर है। जालौर की साक्षरता 54.86% है। जयपुर राजस्थान का दूसरा सबसे बड़ा साक्षर जिला है। जयपुर की कुल साक्षरता दर 75.51% है। झुंझुनू की साक्षरता दर 74.13% है। सीकर की साक्षरता दर 71.91% है।‌ राजस्थान का दूसरा सबसे कम साक्षर राज्य सिरोही है। सिरोही की कुल साक्षरता दर 55.25% है।

राजस्थान की जनसंख्या कितनी है? Rajasthan Ki Janshankiya
राजस्थान की जनसंख्या कितनी है? Rajasthan Ki Janshankiya

राजस्थान का सबसे अधिक साक्षर जिला कौनसा है?

Rajasthan राजस्थान का सबसे अधिक साक्षरता वाला जिला कोटा है। कोटा की साक्षरता दर 76.56% है जो कोटा को राजस्थान का सबसे अधिक साक्षरता वाला जिला बनाता है। राजस्थान का सबसे अधिक पुरुष साक्षरता दर वाला जिला झुंझुनू है। झुंझुनू में पुरुष साक्षरता दर 86.9% प्रतिशत है। राजस्थान का सर्वाधिक महिला साक्षरता वाला जिला कोटा है। कोटा में राजस्थान की सर्वाधिक महिला साक्षरता दर 65.9% प्रतिशत है।

राजस्थान के 5 सबसे अधिक साक्षरता दर वाले जिलों के नाम– कोटा, जयपुर, झुंझुनू, सीकर, अलवर,। कोटा की साक्षरता दर 76.56% है। जयपुर की साक्षरता दर 75.5% है। झुंझुनू की साक्षरता दर 74.1% है। सीकर की साक्षरता दर 71.9% है।  अलवर की साक्षरता दर 70.7% है।

राजस्थान का सबसे कम साक्षर जिला कौनसा है?

Rajasthan राजस्थान का सबसे कम साक्षरता वाला जिला जालौर है। जालौर की कुल साक्षरता दर 54.86% है, जो जालौर को राजस्थान का सबसे कम साक्षरता वाला जिला बनाता है। राजस्थान का सबसे कम पुरुष साक्षरता दर वाला जिला प्रतापगढ़ है। राजस्थान प्रतापगढ़ में सबसे कम पुरुष साक्षरता दर 69.5% है। राजस्थान का सबसे कम महिला साक्षरता दर वाला जिला जालौर है। जालौर की महिला साक्षरता दर 38.5% है।

राजस्थान के 5 सबसे कम साक्षरता दर वाले जिलों के नाम– जालौर, सिरोही, प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, बाड़मेर। जालौर की साक्षरता दर 54.86% है। सिरोही की साक्षरता दर 55.3% है। प्रतापगढ़ की साक्षरता दर 56.0% है। बांसवाड़ा की साक्षरता दर 56.3% है। बाड़मेर की साक्षरता दर 56.5% है।

Also Read – राजस्थान की राजधानी क्या है? Rajasthan Capital

Rajasthan ki saksharta dar in Hindi –

राजस्थान की साक्षरता दर 66.11%
राजस्थान पुरुषों की साक्षरता दर 79.19%
राजस्थान महिलाओं की साक्षरता दर 52.13%
राजस्थान के कुल साक्षर 38,275,282
राजस्थान के कुल साक्षर पुरुष  23,688,412
राजस्थान की कुल महिला साक्षर 14,586,870
राजस्थान का सबसे ज्यादा साक्षर जिला कौटा
राजस्थान का सबसे कम साक्षर जिला जालौर 
कोटा की साक्षरता 76.56%
जालौर की साक्षरता 54.86%

राजस्थान में लिंगानुपात –

Rajasthan का लिंगानुपात 928 है। यानी कि राजस्थान में प्रति एक हजार पुरुषों पर 928 महिलाएं हैं। राजस्थान में बच्चों का लिंगाअनुपात 888 है। राजस्थान के शहरी क्षेत्र में लिंगानुपात 914 है। राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्र में लिंगानुपात 933 है। राजस्थान का सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला डूंगरपुर है। डूंगरपुर का लिंगानुपात 994 है। राजस्थान का सबसे कम लिंगानुपात वाला जिला धौलपुर धौलपुर का लिंगानुपात 846 है।

राजस्थान के सर्वाधिक लिंगानुपात वाले जिलें कौनसे हैं?

Rajasthan का सबसे अधिक लिंगानुपात वाला जिला डूंगरपुर है। राजस्थान के सबसे अधिक लिंगानुपात वाले 5 जिलों की सूची में डूंगरपुर, राजसमंद, पाली, प्रतापगढ़ एवं बांसवाड़ा मुख्य रूप से शामिल है। डूंगरपुर का लिंगानुपात 994 है। राजसमंद का लिंगानुपात 990 है। पाली का लिंगानुपात 987 है। प्रतापगढ़ का लिंगानुपात 983 है। बांसवाड़ा का लिंगानुपात 980 है।

राजस्थान के सबसे कम लिंगानुपात वाले जिलें कौनसे हैं?

Rajasthan राजस्थान का सबसे कम लिंगानुपात वाला जिला धौलपुर है। राजस्थान के 5 सबसे कम लिंगानुपात वाले जिलों के नाम – धौलपुर, जैसलमेर, करौली, भरतपुर, गंगानगर है। धौलपुर का लिंगानुपात 846 है। जैसलमेर का लिंगानुपात 852 है। करौली का लिंगानुपात 861 है। भरतपुर का लिंग अनुपात 880 है। गंगानगर का लिंग अनुपात 887 है।

Rajasthan (राजस्थान) का लिंगानुपात –

राजस्थान का लिंगानुपात 928
राजस्थान में ग्रामीण लिंगानुपात 933
राजस्थान में शहरी लिंगानुपात 914
राजस्थान में बच्चों का लिंगानुपात 888
राजस्थान का सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला डूंगरपुर
राजस्थान का न्यूनतम लिंगानुपात वाला जिला धौलपुर
डूंगरपुर का लिंगानुपात 994
धौलपुर का लिंगानुपात 846

राजस्थान की धार्मिक जनसंख्या 2022 –

Rajasthan में अनेक धर्म के लोग रहते हैं, जिनमें सबसे ज्यादा हिंदू धर्म के लोग हैं। जबकि राजस्थान में सबसे कम जैन धर्म के लोग रहते हैं। राजस्थान में हिंदुओं की 70,350,108 संख्या है। राजस्थान में मुसलमानों की 7,208,594 संख्या है। राजस्थान में ईसाइयों की संख्या 111,840 है। राजस्थान में सिखों की संख्या 1,012,424 है। राजस्थान में बौद्ध धर्म की संख्या 14,132 है‌। राजस्थान में जैन लोगों की संख्या 721,422 है। राजस्थान में अघोषित लोगों की संख्या 78,534 है। राजस्थान में अन्य धर्मों की संख्या 5,423 है। राजस्थान में हिंदू 88.49% है। राजस्थान में मुस्लिम 9.07% है। राजस्थान में सिख 1.27% है। राजस्थान में ईसाई 0.14% हैं। राजस्थान में बौद्ध 0.02% है। राजस्थान में जैन 0.91% है। राजस्थान में अघोषित लोगों का 0.10% है। राजस्थान में अन्य धर्म के लोगों का 0.01% है।

Also Read – राजस्थान में कुल कितनी तहसील है? सभी तहसीलों के नाम – Rajasthan ki Tehsil

राजस्थान की धार्मिक आबादी –

धर्म प्रतिशत आबादी
हिंदू 88.49% 70,350,108
मुस्लिम 9.07% 7,208,594
सिख 1.27% 1,012,424
ईसाई 0.14% 111,840
बौद्ध 0.02% 14,132
जैन 0.91% 721,422
अघोषित 0.10% 78,534
अन्य 0.01% 5,423
कुल 100.00% 79,502,477

राजस्थान में जातिगत आबादी  –

राजस्थान में सैकड़ों जातियां रहती है, लेकिन मुख्य रूप से राजस्थान में राजपूत, जाट, गुर्जर, मीणा, पटेल, ब्राह्मण, माली इत्यादि का दबदबा रहा है। राजस्थान में राजपूतों की आबादी 10% है। राजस्थान में राजपूतों की संख्या 5800000 से भी अधिक है। राजस्थान में 11.52% जाट हैं। राजस्थान में जाटों की संख्या एक करोड़ से भी ज्यादा है। राजस्थान में सबसे ज्यादा जनसंख्या जाटों की है। जाट राजस्थान के सबसे ज्यादा आबादी वाली जाती है। राजस्थान में ब्राह्मणों की आबादी 7.5% प्रतिशत है। राजस्थान में 5%), प्रतिशत मीणा जाति के लोग रहते हैं। राजस्थान में 5% गुर्जर समुदाय के लोग रहते हैं।

Rajasthan में ओबीसी वर्ग के अंतर्गत आने वाली जातियां संपूर्ण राजस्थान की जनसंख्या का लगभग 40% है। राजस्थान में सबसे ज्यादा अनुसूचित जाति के लोग रहते हैं। राजस्थान में अनुसूचित जाति की संख्या 41% है। राजस्थान में अनुसूचित जनजाति की संख्या 13% है, जो राजस्थान की दूसरी सबसे बड़ी जाति है। संपूर्ण राजस्थान की आबादी का 9% राजस्थान में मुस्लिम आबादी है। मुस्लिम आबादी के बाद राजस्थान में सिख आबादी 1.27 % प्रतिशत है। इसके बाद राजस्थान में जैन धर्म 0.91%है और बौद्ध धर्म 0.02% है।

राजस्थान में अनुसूचित जाति की सुची –

  • बजगर, बलाई, बन्सफोर, बावरी
  • धोबी, ढोली, डूम, गंडिया, गारांचा, गारो
  • गरूर, गरुड़, गरोद, गवारिया, गोधी
  • बिद्किया, बोला, चमार, भाम्भी, बाम्बी
  • जातीय, जाटव, अदि धर्मी, अहेरी,
  • जटवा, जाटवा, मोची, रैदास, कोरी, कूच बंद
  • चंडाल, दबगर, खंजर, खातिक, कोली
  • हरली, खल्पा, मचिगर, मोचिगर, मदर
  • धेगुमेगु, मह्यावाशी, ढे@, वनकर
  • मरू वनकर, मजहबी, मांग, मातंग
  • मांग गरुडी, मेघ, मेघवाल, मेघावल, मेंघवार
  • सर्भंगी, सरगरा, सिंगिवाला, थोरी, नायक
  • तिरगर, तिर्बंगा, तुरी, मेहर, नट, पासी, रावल
  •  साल्वी, सांसी, संतिया, सतिया,
  • बरगी, बावरिया, बेदिया, बेडिया
  • बदी, बगरी, बैरवा, धनक, धनुक, धन्किया
  • भांड, भंगी, चुरा, मेहतर, ओलगना
  • मिनिमदिग, मांग गरोडी, असदारू, असोदी
  • चमडिया, चंभर, कमटी, हरल्या,
  • बाल्मीकि, वाल्मीकि, कोरर, ज़द्माली
  • मादिग, तेलेगु मोची, रानिगर, रोहित, संगर
  • कूचबन्द, कोरिया, मदारी, महार, तरल
  • रुखी, मालखाना, हलालखोर
  • रोहिदास, रेगर, रैगर, रामदासिया
  • झींगरम कालबेलिया, सपेरा, कामद, कामडिया

Also Read – राजस्थान में कुल कितने जिले हैं? Rajasthan Ke Sabhi Distric

राजस्थान अनुसूचित जनजाति सुची —

  • डूंगरी गरासिया, मेवासी भील, रावल भील
  • वासवा, वसवे, भील मीणा, द्मोर, दमरिया
  • ढंका, तडवी, तेतरिया, वलवी
  • भील, भील गरासिया, मिन, नायकदा
  • नायक, सहरिया, धोर कठोड़ी
  • सोन कठोडी, सोन कातकारी
  • कोकना, कोकनी, कुकन, डूंगरी भील
  • मोटा नायक, नाना नायक, ढोली भील
  • धोर कातकारी, कोली धोर
  • टोकरे कोली, कोल्चा, कोलघास
  • गरासिया, गरासिया, कठोड़ी, कातकरी
  • तडवी भील, भागालिया, भिलाला, पवरा
  • चोलीवाला नायक, कपाड़िया नायक
  • पटेलिया, सहरिया, सेहरिया

Rajasthan (राजस्थान) की अन्य जातियां —

  • मिरासी, धादिक, मोगिया, निषाद, भिस्ती
  • गूजर, गुर्जर, हेला, जनवा, सिर्विक
  • जोगी, नाथू, जुलाहा, सक्का-भिष्टी
  • गायरियो, गड़िया-लोहर, गडोल
  • अहीर, यादव, बड़वा, भट, राव जचक, जग
  • बगरिया, बंजारा, बलदिया, लबाना
  • भारभुजा, चरण, छिप्पा, नामा
  • रंगसामी, अद्भोपा, दममी
  • भवसारी, डकौत, देशत्री, रावण-राजपूत
  • जांगिड़, खाती, खराड़ी, सुथार, तारखान
  • धोबी, रंगरेज़, नीलगारी, गारी, जाट
  • ठठेरा, कंसरा, भरवा, सक्का-भिष्टी
  • कालबी, भटियार, राय-सिखो
  • बरी, फकीर, कसाई, सिलावट, देशवाली
  • गडरिया, घोषी, गद्दी, कुंजरा, मेर
  • कच्छी, कच्छी कुशवाहा, कच्छी-शाक्य
  • कलाल, नई, सैन, बैद नाई, न्यारिया, अजीब
  • भिश्ती-अब्बासी, मोची, सिरकावाली
  • घांची, गिरी गोसाईं, सिंधी मुसलमान
  • सतिया-सिंधी, सिकलीगड़, तेली
  • स्वर्णकार, सुनार, सोनी, तमोली
  • पटवा, रायका, रेबारी, रावत, उदास, स्वामी
  • नगरचि, दरोगा, दरोगा-रजोत, दार्ज़िक, भोई
  • कीर, मल्लाह, मेहरा, कांबिक, कंडेरा
  • पिंजारा, मंसूरी, खारोली, किरार,
  • मनिहारी, लोधी, लोहार, पांचाली
  • माली सैनी, बगवां, महा-ब्राह्मण
  • कुम्हार, कुमावती, लखरा, धाकड़ धीवर, कहार

राजस्थान के सभी जिलों की जनसंख्या  –

क. जिला  लिंगानुपात  साक्षरता दर जनसंख्या 
1. अजमेर 951 69.33% 2,995,824
2. अलवर 895 70.72% 4,261,313
3. बांसवाड़ा  980 56.33% 2,084,723
4. बारा 929 66.66% 1,418,151
5. बूंदी 925 61.52% 1,288,429
6. बाड़मेर 902 56.53% 3,019,830
7. बीकानेर 905 65.13% 2,741,694
8. भरतपुर 880 70.11% 2,955,706
9. भीलवाड़ा 973 61.37% 2,793,405
10. चित्तौड़गढ़  972 61.71% 1,791,123
11. चूरू 940 66.75% 2,365,467
12. दौसा 905 68.16% 1,895,588
13. डूंगरपुर 994 59.46% 1,610,443
14. धौलपुर 846 69.08% 1,399,317
15. श्रीगंगानगर 887 69.64% 2,283,841
16. हनुमानगढ़ 906 67.13% 2,058,288
17. जयपुर 910 75.51% 7,685,041
18 जैसलमेर 852 57.22% 776,972
19. जोधपुर 916 65.94% 4,276,374
20. जालौर 952 54.86% 2,120,961
21. झालावाड़ 946 61.50% 1,636,627
22. झुंझुनू 950 74.13% 2,478,545
23. करौली 861 66.22% 1,691,276
24. कोटा 911 76.56% 2,262,786
25. नागौर 950 62.80% 3,836,320
26. पाली 987 62.39% 2,363,177
27. प्रतापगढ़ 983 55.97% 1,006,530
28. राजसमंद 990 63.14% 1,341,421
29. सिरोही 940 55.25% 1,201,954
30. सीकर 947 71.91% 3,105,171
31. सवाई माधोपुर 897 65.39% 1,548,972
32. टोंक 952 61.58% 1,648,454
33. उदयपुर 958 61.82% 3,558,754

Also Read – राजस्थान में कितने उपखण्ड है? Rajasthan Ke Upkhand

FAQ:- राजस्थान की जनसंख्या से संबंधित कुछ प्रश्न एवं उत्तर –

वर्तमान समय में राजस्थान की कुल जनसंख्या कितनी है?

राजस्थान की कुल जनसंख्या 79,502,477 है।

Rajasthan की साक्षरता दर कितनी है?

वर्तमान समय में राजस्थान की साक्षरता दर 66.11% हैं।

राजस्थान का लिंगानुपात क्या है?

Rajasthanराजस्थान का लिंगानुपात 928 है यानी प्रति 1000 व्यक्ति पर 928 महिलाएं हैं।

राजस्थान में सबसे ज्यादा किस जाति के लोग रहते हैं?

Rajasthan में सबसे ज्यादा जाट जाति के लोग रहते हैं। जाट के बाद राजपूतों का दूसरा स्थान आता है।

राजस्थान की महिला साक्षरता दर कितनी है?

Rajasthan में 52.13% महिला साक्षरता दर है।

राजस्थान की पुरुष साक्षरता दर कितनी है?

Rajasthan राजस्थान की पुरुष साक्षरता दर 79.19% है।

राजस्थान में सबसे ज्यादा किस की संख्या है?

राजस्थान में सबसे ज्यादा अनुसूचित जाति के लोगों की संख्या है। लगभग 45% अनुसूचित जाति के लोग राजस्थान में रहते हैं।

Also Read – राजस्थान में कुल कितने गांव हैं? Rajasthan Me Kul kitne Gaav Hai

Conclusion

राजस्थान की जनसंख्या कितनी है? राजस्थान जनसंख्या की दृष्टि से भारत का सातवां सबसे बड़ा देश है। जबकि क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का प्रथम सबसे बड़ा राज्य राजस्थान है। राजस्थान में अनेक धर्म एवं जाति के लोग रहते हैं। इसीलिए आज के इस आर्टिकल में हमने आपको राजस्थान की जनसंख्या का पूरा  विवरण दिया है, जिसमें राजस्थान की जनसंख्या कितनी है?

राजस्थान का लिंगानुपात क्या है? Rajasthan की साक्षरता दर कितनी है? Rajasthan राजस्थान की धार्मिक जनसंख्या, राजस्थान की जातिगत जनसंख्या इत्यादि पूरी जानकारी विस्तार से इस आर्टिकल में बता दी है। हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए जरूरी उपयोगी साबित हुई होगीं। अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो आप नीचे करके पूछ सकते हैं।

Namaskar Aap Sabhi Ka SkyRajasthan.com Par Bhoot Bhoot Suwagat Hai. Yha Par Aapko Rajasthan Se Releted Lagbhag Sabhi Parkaar Ki Jankari Aasaan Bhasaa Me Milegi. Muje Article Writing Ka 5+ Year Ka Experience Hai. Eske Alawa New Jankari Padna Our Logo Ke Saat Share Karna Accha Lagta Hai.